Monday, 29 July 2013

ज़िन्दगी शायरी हिंदी में



ज़िन्दगी अब तलक जो गुज़री है,
चन्द वादों और यादों की कहानी है;

वादे जो पूरे किये, किसी को याद नहीं,
जो हम निभा न सके, सबकी ज़ुबानी हैं!

5 comments: